Central India Outreach Blog

Posts Categorized Under Christmas

अद्‌भुत युक्ति करनेवाला

Sunday, December 25, 2011

Category: Christmas, Hindi

“उसका नाम अद्‌भुत युक्ति करनेवाला” (यशायह 9:6) जब यीशु 12 वर्ष के थे तो उनके माता पिता ने उनहे यरूशलेम लेकर गये जहां उनहोने शास्‍त्रियों और विद्वानों को अपने बुद्धि से अचंबित कर दिया। जब वे सार्वजनिक सेवकाई में उतरे तो लोग उनके शिक्षाओं से चकित हो जाते थे। वे कहते थे कि वे शास्‍त्रियों के समान नही परन्‍तु अधिकार के साथ सिखाते थे। उनके सामने अहंकारी मुंह बंद हो जाता था और चालाक जीभ Continue reading…

The Wonderful Counselor

Sunday, December 25, 2011

Category: Christmas, English

“His name will be called Wonderful Counselor” (Isaiah 9:6) When Jesus was 12 years, His earthly parents took Him to Jerusalem where He astounded the scribes and the experts in Law with His wisdom. When He got into His public ministry, the crowds were astonished by His teaching. They remarked that He didn’t teach like the scribes but spoke with authority. Before Him the proud mouth fell silent and tricky tongue found no room of Continue reading…

Unto Us A Son Is Given (Isaiah 9:6)

Sunday, December 25, 2011

Category: Christmas, English

“For unto us a Child is born, unto us a Son is given” (Isaiah 9:6) The prophetic text leaves no room for confusion; the child is born, but the Son is given. Jesus is not Mary’s son; He is her child: Jesus is the Son of God. The “Son is given” speaks of the divinity of Christ. The Hebrew word used for “given” is nathan and carries the idea of purposeful giving. The Son is Continue reading…

हमें एक पुत्र दिया गया है (यशायह 9:16)

Sunday, December 25, 2011

Category: Christmas, Hindi

हमें एक पुत्र दिया गया है (यशायह 9:16) वह बालक के रूप में पैदा हुआ परन्‍तु पुत्र के रूप में दिया गया। यीशु मरियम का पुत्र नही पर बालक ही था। वह परमेश्‍वर का पुत्र था। ‘दिया गया’ शब्‍द उसके ईश्‍वरत्‍व को दर्शाते है। इब्रानी शब्‍द नाथान जो दिया गया के लिए उपयोग किया गया, वह उददेश्‍यपूर्ण दान को दर्शाता है। पुत्र योजना, उददेश्‍य एवं नियुक्तिनानुसार दिया गया। 1 पुत्र का दिया जाना पूर्वनिर्धारित था Continue reading…

हमारे लिये एक बालक उत्पन्न हुआ (यशायह 9:6)

Sunday, December 25, 2011

Category: Christmas, Hindi

क्योंकि हमारे लिये एक बालक उत्पन्न हुआ, हमें एक पुत्र दिया गया है, और प्रभुता उसके कांधे पर होगी, और उसका नाम अद्‌भुत युक्ति करनेवाला पराक्रमी परमेश्वर, अनन्तकाल का पिता, और शान्ति का राजकुमार रखा जाएगा। (यशायह 9:6) रबिन्‍द्रनाथ टागोर ने एक बार कहा की हर एक बच्‍चा जो दुनिया में आता है वह यह संदेश के सा‍थ आता है कि परमेश्‍वर अब भी मनुष्‍य के साथ निरुत्‍साहित नही है। शिशु मानवता के लिए आशा Continue reading…

Unto Us a Child is Born (Isaiah 9:6)

Sunday, December 25, 2011

Category: Christmas, English

For unto us a Child is born, unto us a Son is given; and the government will be upon His shoulder. and His name will be called Wonderful, Counselor, Mighty God, Everlasting Father, Prince of Peace. (Isaiah 9:6) Rabindranath Tagore once said, “Every child that is born into this world comes with a message that God is not yet disappointed with man.” A child is a symbol of hope for humanity. If God can send Continue reading…